ऐसा क्या हुआ कि पीएम मोदी प्रेज़ेंटेशन बीच में ही छोड़कर चले गए

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काम को लेकर सख्त माने जाते हैं। काम में वो किसी भी प्रकार की ढिलाई पसंद नहीं करते हैं, इसीलिए उन्हें काम में डूबे रहने वाला कहा जाता है। लेकिन खबर है कि पीएम मोदी विभिन्न विभागों के सचिवों के काम से खुश नहीं हैं। ख़बर है कि पीएम मोदी अधिकारियों की आधी-अधूरी तैयारियों से ख़फ़ा होकर प्रेज़ेंटेशन बीच में छोड़कर ही चले गए।

‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ की ख़बर के मुताबिक पहली मीटिंग में पीएम मोदी ने प्रेज़ेंटेशन में और मेहनत करने को कहा। पीएम का प्रेज़ेंटेशन के बीच में ही उठकर चले जाना थोड़ा असामान्य था, क्योंकि आमतौर पर वह हमेशा पूरे प्रेज़ेंटेशन के दौरान बैठते हैं।

पीएम की पहली बार की नाराज़गी कृषि और उससे जुड़े विभाग के अधिकारियों से हुई मीटिंग में सामने आई। वहीं पिछले हफ्ते जब उनकी स्वास्थ्य, स्वच्छता और शहरी विकास के सचिवों के साथ बैठक हुई तो वे उठकर चले गए।

प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार के शीर्ष अधिकारियों से कहा कि समेकित रूप से सोचना जारी रखें और ठोस परिणामों को सर्वोच्च प्राथमिकता दें। उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया कि सरकार नए विचारों के प्रति खुली हुई है। प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार के सचिवों के दो समूहों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की जिन्होंने शिक्षा और आपदा प्रबंधन पर अपने विचार रखे।

Latest articles

Related articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here