न कोई विज़न न कोई सीज़न सर्दी से त्रस्त ग़रीबों का जीवन: राजेश कुमार टूना

बेेेगुुसराय (बिहार) : पूरा बिहार शीतलहर के चपेट में आ गया है,खास कर उत्तरी बिहार के लगभग सभी जिलों का पारा लुढ़क कर 6 से 7 डिग्री के आस पास आ चुका है। गरीबों और निःसहाय लोगों की जान और जहान दोनो खतरे की दहलीज पर खड़ी है और कुंभकर्णी नींद में सोयी सरकार कंबल ओढ़कर खाट पर पड़ी है।

इन दिनों नगर परिषद बीहट के सभी वार्डों में भयंकर शीतलहर का प्रकोप जारी है,पर यहां की नगर सरकार का न कोई अपना विजन है न उन्हें कभी अंदाजा रहता है कि कौन सा सीजन है,नगर परिषद बीहट की गरीब और निःसहाय जनता अपने उद्धारक की ओर टकटकी नजर लगाए बैठी है पर न तो नगर प्रबंधन द्वारा कंही अलाव की व्यवस्था की गई न बेसहारों के बीच गर्म कपड़े का वितरण किया गया,शुक्र है कि एक तरफ नगर क्षेत्र बीहट के कुछ सामाजिक और छात्र संगठनों ने नेकी की दीवार के तहत कुछ पुराने कपड़े का स्टॉल लगा निःसहायों को मदद पंहुचा रहे हैं और नगर प्रबंधन बीहट अपनी सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए बनाबटी मेडल बांट लोगों को दिग्भर्मित कर रहे हैं, अपने निजी व्यवस्था से पर्यावरण संरक्षण एवम मानवीय संवेदना में लगे संस्था और युवाओं के हाथों प्रशस्ति पत्र और मेडल देकर खुद का पीठ थपथपा रहे नगर पदाधिकारी जिसने आज तक इन संस्था को न कोई अपना सहयोग प्रदान किया न ही संस्था से जुड़े युवाओं को कभी उत्साहित किया उलटे एक मेडल देकर अपने ही विभाग को चुना लगा दिया,मैं मीडिया के माध्यम से माननीय जिलाधिकारी महोदय एवम अंचलाधिकारी महोदय से अनुरोध करता हूँ कि इस भयंकर शीतलहर में नगर क्षेत्र बीहट के बिभिन्न चौक चौराहों पर अलाव और गरीबों के बीच कंबल बांटने की व्यवस्था अपने स्तर से या कुंभकर्णी नींद में सोयी नगर प्रबंधन बीहट की ओर से करने की कृपा करें ताकि गरीब निःसहाय नगर बीहट की जनता को इस शीतलहर के प्रकोप से बचाया जा सके।

Latest articles

Related articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here