तांगसूडो खेल को ओलिंपिक और खेल मंत्रालय से मान्यता का लक्ष्य

सोनीपत : नेशनल तंगसुदो फेडरेशन ऑफ़ इंडिया के तत्वाधान में ग्रांडमास्टर मनोज जांगड़ा (फाउंडर प्रेजिडेंट) तथा मास्टर राजीव लोचन व्यास (तकनीकी निदेशक) ने ऑनलाइन भारत के 16 राज्यों के पदाधिकारियों की विशेष सभा का आयोजन किया गया तथा वैश्विक महामारी कोविड -19 के समय में किस तरह खिलाडियों का शारीरिक व् मानसिक विकास हो तथा तांगसूडो खेल के प्रचार – प्रसार के लिए क्या आवश्यक कदम उठाये जाएँ। इस पर गंभीरता पूर्वक विचार किया गया।

इसके अलावा तकनीकी मुद्दे पर भी अध्धयन किया गया तथा ओलिंपिक मूवमेंट के लिए भी योजना बनायीं गयी और विभिन्न पदाधिकारियों को उनके कार्य से अवगत कराया गया जिससे की उन्हें ठीक समय पर उचित निर्णय ले सके जो की फेडरेशन व् तांगसूडो के उत्थान लिए मील का पत्थर साबित हो। जिसके अंतर्गत कुछ ऐसे विशेष कार्यक्रम बनाये जाएंगे जिससे की महामारी के दौरान खिलाडी घर पर रह कर ही उचित शिक्षा प्राप्त कर सके व् स्वालम्बी बने। इस प्रस्ताव को सभी सदस्यों ने पूर्ण समर्थन दिया, तथा एक स्वर में अपना व्यक्तव्य देते हुए कहा की नेशनल तंगसुदो फेडरेशन ऑफ़ इंडिया भारत के सभी राज्यों में तांगसूडो खेल को बढ़ावा देने और विकसित करने के लिए बहुत अच्छा काम कर रहा है और ओलिंपिक व् खेल मंत्रालय से मान्यता के लक्ष्य के लिए व्यवस्थित रूप से उन्हें स्थापित करने की कोशिश कर रहा है।

ग्रांडमास्टर मनोज जांगड़ा बहुत ही निष्पक्ष और फेडरेशन को मान्यता दिलाने के लिए उत्सुकता से काम कर रहे हैं। सभी सदस्यों में कहा की तांगसूडो खेल और इसके खिलाड़ियों और कोचों के बेहतर हित में हम नेशनल तंगसुदो फेडरेशन ऑफ़ इंडिया को समर्थन देने के लिए उत्सुक हैं। हम नेशनल तंगसुदो फेडरेशन ऑफ़ इंडिया के बैनर तले अपने-अपने राज्यों में तांगसूडो खेल की बेहतरी और विकास के लिए अपने योगदान के साथ अपने पूर्ण समर्थन की पुष्टि करते हैं।

इस अवसर पर फेडरेशन के महासचिव राजपाल केसर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ आदिश जैन, उपाध्यक्ष अजय वत्स, बेबी सोनी, डॉ सुभाष ढोर , कार्यकारी सचिव राहुल शर्मा (छत्तीसगढ़), पूनम (हरियाणा), हरीश सैनी व् भावना साहू (दिल्ली), चार्लश सहदेव (पंजाब), राहिल शैफी (जम्मू व् कश्मीर), धर्मदत्त (हिमाचल), लैशराम सिंघजित सिंह (मणिपुर), मोहम्मद याकूब (मेघालय), प्रबीन बोरो (असम), अमर सिंह (तेलंगाना), प्रवीण भंडारे (महाराष्ट्र), राकेश कुमार (राजस्थान), कमल किशोर कहार व् मयंक कीर (मध्य प्रदेश), संचिता (ओडिशा), श्रीकांत सरगोण्ड (कर्नाटक), सुशांत सरकार (त्रिपुरा) उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *