रिफाइनरी थानान्तर्गत गांवों को कोरोना मुक्त रखने में थानाध्यक्ष विवेक भारती का अहम योगदान

बेगूसराय: कोरोना के ख़तरे के चलते जहां देश भर में लॉकडाउन लागू है और लोग इसका पालन ना करके इसकी धज्जियां उड़ा रहे हैं वहीं इन सब के बीच बेगूसराय ज़िले का एक गांव ऐसा भी है जहां प्रशासन ही नहीं बल्कि पूरा गांव लॉकडाउन के नियमों के पालन के कर रहा है। रिफाइनरी थाना प्रशाशन और ग्रामीण हर व्यवस्था के लिए मोर्चा संभाल रहे हैं।
दरअसल बेगूसराय ज़िले का नूरपूर गांव एक ऐसा गांव है जहां लोग लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं । रिफाइनरी थाना पुलिस हर रोज़ बजे अपनी टीम के साथ अपने थानांतर्गत आने वाले गांव का गश्त करते नज़र आती है।

रिफाइनरी थानाध्यक्ष विवेक भारती बताते हैं कि पहले गांव लॉक डाउन का पालन सही से नहीं कर रहे थे लेकिन उन्हें जागरुक किया गया। इस महामारी से बचने के उपाय बताए गए। इसकी चपेट में आने से कैसी भयावह स्थिति पैदा हो जाएगी । इन सब बातों को समझाया गया तो ग्रामीणों ने भी प्रशासन के साथ मिलकर लॉक डॉउन को सफल बनाने की प्रयास की इसी का नतीजा है कि आज की तारीख़ में रिफाइनरी थानांतर्गत आने वाले ज़्यादातर गांव में कोरोना मरीज़ों की तादाद ज़ीरो है।

अब इस गांव की सड़कें खाली हैं और प्रशासन या पुलिस ग्रामीणों को बार-बार समझाइश या अपील करने की ज़रूरत नहीं पड़ रही है. इस गांव के लोग बैंक भी जा रहे हैं तो खुद ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रख रहे हैं. बैंक में भी कोई सिग्नेचर के पहले ग्रामीणों के हाथ सेनेटाइज करवाये जा रहे हैं.

बता दें कि ग्रामीणों ने ज़रूरत मंद लोगों के लिए राहत सामग्री की व्यवस्था की थी। निर्धन और गरीब लोगों के लिए जो राहत सामग्री का इंतेज़ाम किया, उन्हें लॉक डाउन का पालन करते हुए वितरित करवाने में रिफाइनरी थानाध्यक्ष विवेक भारती का भी काफ़ी अहम योगदान रहा है.
बताया जा रहा है कि इन ग्रामीणों की सख्ती और पुलिस प्रशासन की जागरूकता की वजह से कोई भी ग्रामीण बगैर जानकरी, किसी ठोस कारण से गांव से ना तो बाहर जाता है ना ही कोई आता है. हर आने जाने वाले का नाम, पता, समय और वह व्यक्ति कहां जा रहा कहां से आ रहा है सब नोट किया जाता है. साथ ही आने-जाने वाले लोगों को सैनेटाइज़ भी करवाया जाता है। बाहर राज्य से आने वाले लोग भी अपनी ट्रैवेल हिस्ट्री साझा कर मेडिकल चेक अप करवा कर क्वारन्टीन केंद्रों में चले जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *