घर में सो रहा था परिवार अचानक हुआ ये हादसा, पढ़कर हैरान रह जाएंगे आप

बछवाड़ा (बेगूसराय): रानी गांव कोल्ड स्टोरेज के पास शनिवार की अहले सुबह गिट्टी से लदा ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया। सड़क के किनारे बने फूस के घर पर ट्रक पलटने से घर में सो रही एक महिला की मौत हो गई वहीं तीन लोग बुरी तरह से घायल हो गये।
घायलों को इलाज के लिये निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।ग्रामीणों ने बताया कि शनिवार की सुबह तेघड़ा से बछवाड़ा की तरफ गिट्टी से लदा ट्रक जा रहा था तभी अचानक अनियंत्रित होकर फूस के घर पर पलट गया। ट्रक के पलटने से घर में सो रहे गिरधारी पासवान, उसकी 65 वर्षीय मां हृदगिया देवी, पत्नी काजो देवी, पुत्री गूंजा कुमारी घायल हो गए। ग्रामीणों की मदद से सभी घायल को ईलाज के लिए ले जाया गया। जहां गिरधारी पासवान की मां ह्रदगिया देवी की ईलाज के दौरान हो गयी।
मौत की खबर सुनते ही ग्रामीण आक्रोशित हो गए और शव को एनएच 28 पर रखकर प्रदर्शन करने लगे और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी भी की।
ग्रामीणों का का कहना था की कई सालों से रानी गांव में गंगा कटाव पीड़ित एन एच 28 के किनारे बसे हुए हैं। सड़क के किनारे रहने की वजह से आये दिन हादसे का शिकार हो रहे हैं, लेकिन प्रशासन के द्वारा कोई ठोस क़दम नहीं उठाया जा रहा है। कुछ दिन पहले भी इस तरह की घटना हुई थी। प्रशासन द्वारा आपदा से दी जाने वाली सहायता और सड़क के किनारे बसे लोगो के पुनर्वास की व्यवस्था एक माह के अन्दर कर देने की बात कही गयी थी लेकिन आज तक ना ही आपदा द्वारा दिए जाने वाला राशि का भुगतान किया गया न ही पुनर्वास की कोई व्यवस्था की गई।
ग्रामीणों का कहना था कि जब तक प्रशासन के वरिष्ठ पदाधिकारी मुआवज़ा समेत पुनर्वास की व्यवस्था नहीं की जायगी सड़क जाम खत्म नहीं करेगें।
घटना की सूचना पर मिलने पर बछवाड़ा थानाध्यक्ष परशुराम सिंह,एस आई अरविन्द कुमार सिंह,बीडीओ डॉ विमल कुमार,सीओ सूरजकांत,इन्स्पेक्टर संजय कुमार झा मौक़े पर पहुंचे। पंचायत के मुखिया अमरजीत समेत कई लोगों ने ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन ग्रामीण अपने बात पर अड़े रहे।करीब छः घंटे के बाद बीडीओ के द्वारा मुआवजा और सीओ के द्वारा पुनर्वास की व्यवस्था जल्द करवाने के आश्वासन के बाद जाम ख़त्म किया गया।
पुलिस ने शव को अपने कब्जे में पोस्टमार्टम के लिए बेगूसराय अस्पताल भेज दिया। वही ट्रक के पलटने के बाद ट्रक चालक और खलासी मौक़े से फरार हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *