एआईएसएफ ने शैक्षणिक समस्याओं को लेकर बीहट नगर के कार्यपालक पदाधिकारी को बनाया बंधक

मुर्शीद खान(बेगुसराय) :- दिनांक 28 अप्रैल को पूर्व में तय कार्यक्रम के अनुसार एआईएसएफ बरौनी अंचल परिषद के कार्यकर्ताओं ने नगर परिषद बीहट के मुख्य पार्षद अशोक कुमार सिंह तथा कार्यपालक पदाधिकारी डा० अमित कुमार का घेराव किया।इससे पहले छात्रों ने कार्यपालक पदाधिकारी को दो घंटे तक बंधक बनाकर रखा तथा अपनी मांगो को लेकर जमकर नारेबाजी किया।तत्पश्चात छात्रों ने महात्मा गाँधी उच्च विधालय के मुख्य द्वार निर्माण,आरसीएसएस कालेज के रास्ते का प्रबंध,वैदेही वल्लभ शरण बालिका उच्च विधालय में इन्टरमिडियट की पढाई शुरू करने,जन्म प्रमाण पत्र समय पर निर्गत करने समेत अन्य कई शैक्षणिक समस्याओं के निदान के लिए मुख्य पार्षद तथा कार्यपालक पदाधिकारी के साथ वार्ता में शामिल हुए।वार्ता के बाद मुख्य पार्षद ने कहा कि महात्मा गाँधी उच्च विधालय के मुख्य द्वार का निर्माण कार्य सात दिनों के भीतर शुरू कर दी जाएगी।,आरसीएसएस कालेज के रास्ते के लिए जमीन मालिकों से बात कर उचित रास्ता निकाला जाएगा,बालिका उच्च विधालय बीहट में इन्टर की पढाई शुरू करने के लिए शिक्षा विभाग को पत्राचार किया जाएगा।कार्यपालक पदाधिकारी ने छात्र नेताओं को भरोसा दिलाया की जन्म प्रमाण पत्र संबंधित समस्या तथा स्कूल -कालेजों में शौचालय की समस्याओं को अविलंब दूर करने की दिशा में प्रयास किया जाएगा।एआईएसएफ के छात्रों ने अंचल मंत्री साकेत कुमार तथा प्रखंड अध्यक्ष सदरे आलम खान के नेतृत्व में घेराव कार्यक्रम किया।एआईएसएफ के जिला उपाध्यक्ष राकेश कुमार ने कहा नगर परीषद बीहट के कार्यपालक पदाधिकारी तथा मुख्य पार्षद के निकम्मेपन की वजह से ही बीहट में शैक्षणिक व्यवस्था ध्वस्त है।कार्यपालक पदाधिकारी नगर के विकास कार्यों को छोड़कर अवैध उगाही में लिप्त हैं।वहीं छात्र नेता रामकृष्ण ने कहा हमारे संघर्षों परिणाम है कि महात्मा गाँधी उच्च विधालय में इन्टरमिटियट की पढाई शुरू हुई लेकिन नगर परिषद बीहट के द्वारा अभी तक शिक्षक का नियोजन नहीं होने की वजह से ढाई सौ छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो गया है।एआईएसएफ के बरौनी प्रखण्ड उपाध्यक्ष ईशू सौरभ, ईशू वत्स,सहसचिव क़ैसर रेहान,अंकित सिंह,शादाब,धर्मेंद्र,रहमान,आलोक,सौरभ,मन्नू आदि ने कहा अगर हमारी माँगो का निदान जल्द नहीं किया जाएगा तो हम उग्र आंदोलन का रास्ता अख्तियार करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *