गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली पुलिस को नजीब अहमद की तलाश के लिए दिए ये आदेश

नई दिल्ली। जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद का सुराग नहीं मिल सका है, लेकिन पिछले 20 घंटे से इसे लेकर आक्रोशित छात्रों ने घेराव खत्म कर दिया है। हालांकि, एडमिन ब्लॉक के बाहर छात्र खड़े हैं। वहीं, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली पुलिस को आदेश दिया है कि वह छात्र नजीब अहमद की तलाश के लिए पुलिस की विशेष टीम का गठन करे और छात्र को जल्द से जल्द तलाशे।

गृह मंत्रालय के दफ्तर में दिल्ली पुलिस कमिश्नर और क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे। यहां पर हुई बैठक में राजनाथ सिंह की ओर से कहा गया कि पुलिस कमिश्नर छात्र की तलाश के एसआइटी टीम का गठन करें। पुलिस के अधिकारी ने बताया कि 15 तारीख को नजीब अहमद की मां ने शिकायत दी थी। इसके बाद सारे SSP को भी सूचित किया गया है। छात्र मोबाइल छोड़ कर गया है। बहुत लोगों के बयान लिए गए हैं। इससे पहले जेएनयू कैंपस में बुधवार की रात से कुलपति समेत दस लोगों को बंधक बना लिया। छात्रों ने जेएनयू प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उधर, इस मामले को गृहमंत्रालय ने संज्ञान में लेते हुए दिल्ली पुलिस से पूरी रिपोर्ट तलब की थी।

वहीं, आज सुबह कुलपति की छात्रों से शांति की अपील बेअसर रही। कुलपति ने छात्रों से आग्रह किया था कि बंधक बनाए गए लोगों में कई गंभीर बीमारी की चपेट में हैं, इसलिए उन्हें छोड़ दिया जाना चाहिए। वहीं, छात्र अपनी मांगों को लेकर अडिंग रहे। उन्हाेंने कुलपति की एक नहीं सूनी।

बता दें कि JNU का माहौल बुधवार रात उस समय गरमा गया, जब स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी के छात्र नजीब अहमद के लापता होने पर नाराज छात्रों ने रात भर हंगामा किया।कल देर शाम वाइस चांसलर और दूसरे प्रशासनिक अधिकारियों का घेराव शुरू किया गया था। छात्रों का आरोप है कि प्रशासन इस मामले में लापरवाही बरत रहा है, हालांकि वीसी (वाइस चांसलर) ने देर रात ये बयान दिया था कि लापता छात्र को ढूंढने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *