संकल्प रैली में नेता व्यस्त, शहीद को श्रद्धांजलि देने एयरपोर्ट नहीं पहुंचे एनडीए नेता, डॉ. कन्हैया कुमार ने दी श्रद्धांजलि

पटना: उत्तरी कश्मीर के बावगुंड और हंदवाड़ा में आतंकियों और जवानों के बीच हुए मुठभेड़ में बेगूसराय में थाना क्षेत्र के बगरस ध्यान चक्की गांव निवासी सीआरपीएफ इंस्पेक्टर पिंटू कुमार सिंह शहीद हो गए.उनका पार्थिव शरीर रविवार की सुबह 8 बजकर 15 मिनट पर इंडिगो की फ्लाइट से पटना लगा गया. पटना एयरपोर्ट पर शहीद पिंटू सिंह के पार्थिव शरीर पर पटना की एसएसपी गरिमा मलिक सहित CRPF के अन्य बड़े अधिकारियों ने श्रद्धांजलि दी.मालूम हो कि संकल्प रैली को लेकर व्यस्त एनडीए का कोई भी नेता शहीद पिंटू सिंह को श्रद्धांजलि देने एयरपोर्ट नहीं पहुंचा. जिसके बाद सियासी सरगर्मी बढ़ गयी. हालांकि, विपक्ष के खेमे से कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा वहां मौजूद रहे. शहीद के सम्मान में डॉक्टर कन्हैया कुमार ने भी अपनी तरफ से देश के लिए कुर्बान हुए बेगूसराय लाल को श्रद्धांजलि दी.

आपको बता दें कि उत्तरी कश्मीर के बावगुंड और हंदवाड़ा में आतंकियों और जवानों के बीच हुए मुठभेड़ में सीआरपीएफ इंस्पेक्टर पिंटू कुमार सिंह शहीद हो गए. बगरस ध्यान चक्की गांव निवासी स्व चक्रधर प्रसाद सिंह के सबसे छोटे पुत्र पिंटू ने वर्ष 2009 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए. उनकी पहली पोस्टिंग मोतिहारी सीआरपीएफ मुख्यालय में हुई थी. 6 साल सेवा देने के बाद उन्हें कश्मीर भेज दिया गया. हाल ही में छठ पूजा में गांव आए हुए थे, उन्होंने परिजनों से होली में आने का वादा किया था. उन्होंने मुजफ्फरपुर के लंगट सिंह महाविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई की. मुजफ्फरपुर से अधिक लगाव होने के कारण वे किराए के मकान में पत्नी और बेटी को रखते थे. छुट्टी के दिनों में वे मुजफ्फरपुर आने के साथ ही गांव जरूर आया करते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *