नीटू सरदार हत्या मामले में पूर्व सांसद अतीक अहमद को कोर्ट से बड़ी राहत

प्रयागराज,यूपी : नीटू सरदार की हत्या के मामले में पूर्व सांसद अतीक अहमद समेत सभी आरोपियों को एमपी एमएलए कोर्ट ने दोषमुक्त कर दिया है। सिविल लाइन्स स्थित परफेक्शन हाउस के मालिक नीटू सरदार की हत्या मामले में शेरू उर्फ सिराज की मृत्यु हो जाने पर उसके विरुद्ध वाद समाप्त कर दिया गया। साथ ही पूर्व विधायक खालिद अज़ीम उर्फ अशरफ के फरार होने की वजह से पत्रावली पृथक कर दी गई है। घटनाक्रम के मुताबिक 23 मई 2003 को मीरापुर निवासी सिकंदर सिंह नुरुल्ला ने खुल्दाबाद थाने में तहरीर दी कि उनके पुत्र ने 9:20 बजे रात फोन कर बताया कि उसे मिलन होटल वाले सरदार जोगेन्दर सिंह ने गोली मरवा दी है। अस्पताल ले जाने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया।

विवेचना में अहमद फहीम जैद, मो. जाकिर, मो. कैफ उर्फ कैफी, शेरू उर्फ सिराज, नरेंद्र सिंह पप्पू सरदार, अतीक अहमद, खालिद अजीम उर्फ अशरफ को आरोपित बनाया गया। इसमें खालिद अजीम व पूर्व सांसद अतीक अहमद को हत्या के षड्यंत्र का आरोपित बनाया गया। वादी के बयान में आया कि 2-3 माह पहले जुलूस में अतीक अहमद ने मुझसे कहा था कि तुम्हारा लड़का जोगेन्दर सिंह से बहुत बदतमीजी करता है, उसे समझा लो नहीं तो मारा जाएगा। उक्त प्रकरण में आरोप पत्र लगने के बाद 16 दिसम्बर 2006 को मुकदमा सेशन के सुपुर्द हुआ।

अभियोजन ने 12 गवाह पेश किए लेकिन एक भी गवाह आरोपितों की भूमिका साबित नहीं कर सका। सभी आरोपितों की तरफ से अधिवक्ता खान सौलत हनीफ, खान फरहत हनीफ, राधे श्याम पाण्डे, निसार अहमद ने अपना पक्ष रखा। अतीक अहमद व अन्य के खिलाफ दूसरे अन्य मुकदमों में सुनवाई टल गई। राजूपाल हत्याकाड के गवाह उमेश पाल को डराने के मामले में सफाई साक्ष्य के लिए 10 जनवरी 2019 की तारीख लगाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *